चन्द्र ग्रहण मंत्र || Chandra Grahan Mantra

चन्द्र ग्रहण के वक़्त मंत्र पूजा और साधना - Chandra Graha Puja aur Sadhna

1. चन्द्र ग्रहण वाले दिन मंत्र जाप में आप अपने गुरु, इष्ट देवता या राशि इष्ट देव का मंत्र जाप कर सकते हैं। 

2. यदि आप चंद्र ग्रहण वाले दिन देवी श्री लक्ष्मी माँ जी की साधना करना चाहते हो तो बताये जा रहे चन्द्र ग्रहण मंत्र का जाप करें। 

मंत्र : “ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नम:” !

3. यदि आप इस चंद्र ग्रहण वाले दिन देवी श्री दुर्गा जी की साधना करना चाहते हो तो हमारे बताए अनुसार Chandra Grahan Mantra का जाप करें। 

मंत्र : “ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे॥ ॐ ग्लौं हुं क्लीं जूं सः ज्वालय ज्वालय ज्वल ज्वल प्रज्वल प्रज्वल ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे ज्वल हं सं लं क्षं फट् स्वाहा॥” !


Chandra Grahan Mantra



4. जिस भी जातक का कोई गुरु नहीं है तो वो Chandra Grahan Mantra के अनुसार भगवान् शिव जी का पंचाक्षरी 

मंत्र : “नमः शिवाय” या भगवान् विष्णु जी का मंत्र : “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” का जप करना चाहिए। 

5. यदि आप इस चंद्र ग्रहण में भगवान् श्री गणेश जी साधना करना चाहते हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Chandra Grahan Mantra का जाप करें। 

मंत्र : “ॐ गं गणपतये नमः” !

6. यदि आप इस चंद्र ग्रहण वाले दिन देवी श्री बाला सुंदरी जी की साधना करना चाहते हो तो बताये जा रहे चन्द्र ग्रहण मंत्र का जाप करें। 

मंत्र : “ऐं क्लीं सौः” !

7. यदि आप इस चंद्र ग्रहण के दिन देवी श्री कामाख्या जी की साधना करना चाहते हो तो बताये जा रहे Chandra Grahan Mantra का जाप करें। 

मंत्र : “ॐ ऐं ह्रीं क्लीं कामाख्यै स्वाहा” !

8. यदि आप चंद्र ग्रहण में भगवान श्री हनुमान जी की साधना करना चाहते हो तो बताये जा रहे चन्द्र ग्रहण मंत्र का जाप कीजिये। 

मंत्र : “ॐ नमो भगवते हनुमते महा रुद्रात्मकाय हुं फट् स्वाहा” !

9. यदि आप चंद्र ग्रहण में देवी श्री महाकाली जी की साधना करना चाहते हो तो बताये जा रहे चन्द्र ग्रहण मंत्र का जाप करें। 

मंत्र : “क्रीं क्रीं क्रीं हूं हूं ह्रीं ह्रीं दक्षिणे कालिके क्रीं क्रीं क्रीं हूं हूं ह्रीं ह्रीं स्वाहा” !

10. यदि आप इस चंद्र ग्रहण में देवी श्री बगलामुखी जी की साधना करना चाहते हो तो बताये जा रहे चन्द्र ग्रहण मंत्र का जाप करें। 

मंत्र : “ॐ आं ह्ल्रीं क्रों हुं फट् स्वाहा” !

11. यदि इस चंद्र ग्रहण वाले दिन को आप देवी श्री गायत्री जी की साधना करना चाहते हो तो हमारे द्वारा बताये जा रहे Chandra Grahan Mantra का जाप करें। 

मंत्र : “ॐ भूर्भुवः स्वः तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्यः धीमहि धियो यो नः प्रचोदयात्” !

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां