इन आँखों में सूरत है- in ankho me surat hai

इन आँखों में सूरत है तेरी मन मन्दिर में मूरत है तेरी



credit
singer:-anuradha paudwal

होठो पे है नाम तेरा सांसो में तू है वसा सुन अविनाशी सुन केलाशी
सुन गोरी के भोले पिया
तरीन त्रिगारी तू है तू नील कंठ कहलाये,
पेहनेसर्प की माला और अंग भभूति लगाये
पी के भंग प्याले वर दे डाले ओ गोरी के भोले पिया
इन आँखों में सूरत है तेरी मन मन्दिर में मूरत है तेरी
तू है सब का दाता तू है सब का पालनहारा
तेरी दया का भगवन ना ता है न कोई किनारा
रूप कही छाया सब तेरी है माया ओ गोरी के भोले पिया
इन आँखों में सूरत है तेरी मन मन्दिर में मूरत है तेरी

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां