बुध ग्रह के मंत्र -Budh Grah Ke Mantra

बुध ग्रह के मंत्र || Budh Grah Ke Mantra

बुध ग्रह के वैदिक मंत्र || Budh Grah Ke Vedic

 ऊँ उद्बुध्यस्वाग्ने प्रतिजागृहि त्वमिष्टापूर्ते स सृजेथामयं च । 

अस्मिन्त्सधस्थे अध्युत्तरस्मिन्विश्वे देवा यजमानश्च सीदत ।।

बुध ग्रह के तांत्रिक मंत्र || Budh Grah Ke Tantrik Mantra 




ऊँ ऎं स्त्रीं श्रीं बुधाय नम:
ऊँ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:
ऊँ स्त्रीं स्त्रीं बुधाय नम:

बुध ग्रह एकाक्षरी बीज मंत्र || Budh Grah Ke Beej Mantra
बुध ग्रह का पौराणिक मंत्र || Budh Grah Ke Poranik Mantra


प्रियंगुकलिकाश्यामं रुपेणाप्रतिमं बुधम । सौम्यं सौम्यगुणोपेतं तं बुधं प्रणमाम्यहम ।।
Budh Grah ke mantra

बुध ग्रह का गायत्री मंत्र || Budh Grah Ka Gayatri Mantra 


ऊँ चन्द्रपुत्राय विदमहे रोहिणी प्रियाय धीमहि तन्नोबुध: प्रचोदयात ।
ऊँ बुं बुधाय नम:

Read More : Budh Stotram

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां