सरस्वती भजन  लिरिक्स-Saraswati bhajan lyrics





    Sarastwati Bhajan Lyrics: सरस्वती वंदना


    या कुन्देन्दुतुषारहारधवला
    या शुभ्रवस्त्रावृता
    या वीणावरदण्डमण्डितकरा
    या श्वेतपद्मासना।
    या ब्रह्माच्युतशंकरप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता
    सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा ॥


    Sarastwati Bhajan Lyrics : सरस्वती वंदना गीत


    वर दे, वीणावादिनि वर दे !
    प्रिय स्वतंत्र-रव अमृत-मंत्र नव
            भारत में भर दे !

    काट अंध-उर के बंधन-स्तर
    बहा जननि, ज्योतिर्मय निर्झर;
    कलुष-भेद-तम हर प्रकाश भर
            जगमग जग कर दे !

    नव गति, नव लय, ताल-छंद नव
    नवल कंठ, नव जलद-मन्द्ररव;
    नव नभ के नव विहग-वृंद को
            नव पर, नव स्वर दे !

    वर दे, वीणावादिनि वर दे।

     - सूर्यकांत त्रिपाठी "निराला"

    --------------------------------------

    Saraswati bhajan lyrics : माँ सरस्वती मुझको वरदान दो मुझको नवल उत्थान दो


    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो मुझको नवल उत्थान दो
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो ||

    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,माँ शरदे हंससिनी वागेश वीना वादिनी ,
    मुझको अगम स्वर ज्ञान दो,
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो ||

    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,माँया मुझको ना तक सके,
    मॅन मोह माया  ना फस सके,
    कर डोर सब अगयाँ दो,
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो ||

    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो, निष्काम हो मनोकामना,
    मेरी सफल हो साधना,
    नयी गति नयी ताल हो,
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो ||


    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,हो सत्या जीवन सारथि,
    तेरी करू नित्या आरती,
    संवेधी सच समान हो,
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो ||

    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो, मन   बुद्धि हृदय पावतीत्र  हो,
    मेरा महान चरित्रा हो,
    विद्या विनय बाल दान दो,
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो ||


    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,सौ वराश तक जीते रहे,
    सच अमीया हम पीते रहे,
    निज चरण में  स्थान दो,
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो ||


    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,यह विश्वा ही परिवार हो,
    सब के लिए समाँन प्यार हो,
    आदेश लक्ष्या महान दो,
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो ||

    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,मुझको नवल उत्थान दो
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो,
    मुझको नवल उत्थान दो
    माँ सरस्वती मुझको वरदान दो ||

    ------------------------------------------------------------------

    Saraswati bhajan lyrics:  सुर की देवी सरस्वती माँ


    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,

    सुर का गण  सीखा दे माँ,
    है अंधियारा इस हृदय में ,
    सुर का दीप जला दे माँ
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,

    रीत ना जानू गीत ना जानू,
    प्रीत मैं  जानू चरणों  की,
    रीत ना जानू गीत  ना जानू,
    प्रीत मैं  जानू चरणों  की,

    ज्ञानी  नही अज्ञानी  हु मैं ।
    साची राह दिखा दे माँ,
    है अंधियारा इस ह्रदय में,
    सुर का दीप जला दे माँ,
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,

    पूजा वंदना अर्चना सब कुछ 
    शब्द  सुमन अर्पण माता ,
    पूजा वंदना अर्चना सब कुछ 
    शब्द  सुमन अर्पण माता 
    पूजा वंदना अर्चना सब कुछ 
    शबाद सुमन अर्पण माता 


    सुर का गान  सीखा दे माँ,
    है अंधियारा इस ह्रदय में 
    सुर का दीप  जला दे माँ
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,
    सुर की देवी सरस्वती माँ, सुर की देवी सरस्वती माँ,


    --------------------------------------------------------------------

    Saraswati bhajan lyrics :  जय जय जय माँता सरस्वती


    जय जय जय माँता सरस्वती, जयसुबा दाइिनी वरदायिनी
    हंस वाहिनी पद्मा आसाना माँता, वीना पुस्तक धारिणी
    जय सुबा दाइिनी वरदायिनी…

    तूही दुर्गा तूही काली, तूही माँता पार्वती
    सकल जगत के पालन करनी, सकल जगत के पालन करनी, विद्या बुद्धि दाइिनी
    जय सुबा दाइिनी वरदायिनी…
    जय जय जय माँता सरस्वती, जय सुबा दाइिनी वरदायिनी

    ब्रह्मा विष्णु महेश शेषा सब, तेरे ही गुणगान करे
    हम सबका कल्याण करो माँ,हम सबका कल्याण करो माँ, विद्या बुद्धि दाइिनी
    जय सुबा दाइिनी वरदायिनी…
    जय जय जय माँता सरस्वती, जय सुबा दाइिनी वरदायिनी

    जय जय जय माँता सरस्वती, जय सुबा दाइिनी वरदायिनी
    हंस वाहिनी पद्मा आसाना माँता, वीना पुस्तक धारिणी
    जय सुबा दाइिनी वरदायिनी…

    --------------------------------------------------------------------

    Saraswati bhajan lyrics: जय सरस्वती माँता


    जय सरस्वती माँता मैया जय सरस्वती माँता |
    सद्गुण वैभव शालिनी,त्रिभुवन विख्यात ||
    जय सरस्वती माँता मैया जय सरस्वती माँता |
    चंद्रवदनी पद्मासिनी,धुति मंगलकारी, मैया धुति मंगलकारी |
    सोहे शुभ हंस सवारी अतुल तेजधारी ॥
    जय सरस्वती माँता मैया जय सरस्वती माँता |

    बाएँ कर मे विणा,दाएँ कर माँला, मैया दाएँ कर माँला |
    शीश मुकुट मणि सोहे,गल मोतियन माँला ॥
    जय सरस्वती माँता मैया जय सरस्वती माँता |

    देवी शरण जो आए,उनका उद्धार किया, मैया उनका उद्धार किया |
    पैठी मंथरा दासी,रावण संहार किया ॥
    जय सरस्वती माँता मैया जय सरस्वती माँता |

    विद्या ज्ञान प्रदायिनी ज्ञान प्रकाश भरो, मैया ज्ञान प्रकाश भरो |
    मोह अज्ञान और तिमिर का जग से नाश करो ||
    जय सरस्वती माँता मैया जय सरस्वती माँता |

    धूप-दीप फल मेवा माँ स्वीकार करो , मैया माँ स्वीकार करो |
    ज्ञानचक्षु दे माँता जग निस्तार करो ||
    जय सरस्वती माँता मैया जय सरस्वती माँता |

    माँ सरस्वती की आरती जो कोई जन गावे, मैया जो कोई जन गावे |
    हितकारी सुख कारी ज्ञान भक्ति पावे ॥
    जय सरस्वती माँता मैया जय सरस्वती माँता |
    ------------------------------------------------------------------------------

    Saraswati bhajan lyrics: मेरे कंठ बसो महारानी



    मेरे कंठ बसो महारानी।

    जीवन का संगीत तुम्ही हो,
    आशाओं का दीप तुम्ही हो।
    शब्द सुधा से दामन भर दो,
    मैं जाचक तू दानी ॥

    लय और ताल का ज्ञान भी दे दो,
    स्वर सरगम और तान भी दे दो ।
    मेरे सीस पे हाथ धरो माँ,
    सरस्वती कल्याणी ॥

    --------------------------------------------------------------------

    Saraswati bhajan lyrics: हे वीणा वादिनी सरस्वती, हंस वाहिनी


    हे वीणा वादिनी सरस्वती
    हंस वाहिनी सरस्वती
    विद्या दायिनी सरस्वती
    नारायणी नमोस्तुते ॥

    हे वीणा वादिनी सरस्वती
    हंस वाहिनी सरस्वती
    विद्या दायिनी सरस्वती
    नारायणी नमोस्तुते ॥

    तू राह दिखाना माँत मेरी
    साथ निभाना माँत मेरी
    अँधियारा है अंतर मन
    ज्योत जलना माँत मेरी 

    हे वीणा वादिनी सरस्वती
    हंस वाहिनी सरस्वती
    विद्या दायिनी सरस्वती
    नारायणी नमोस्तुते ॥

    मन में करुणा भर देती
    निष्पाप ह्रदय तू कर देती
    भक्ति से तुझे पूजे जो
    सुबह आस तू मन में भर देती 

    हे वीणा वादिनी सरस्वती
    हंस वाहिनी सरस्वती
    विद्या दायिनी सरस्वती
    नारायणी नमोस्तुते ॥

    हे वीणा वादिनी सरस्वती
    हंस वाहिनी सरस्वती
    विद्या दायिनी सरस्वती
    नारायणी नमोस्तुते ॥

    Saraswati bhajan lyrics in Hindi

    Saraswati Bhajan Lyrics


    आगे यहाँ पढ़े : 

    Post a Comment

    Help us to Build Neat & Clean Content.if you have any information or useful content related to this site. Please Let us know and we are happy to update our content or Publish new Content on this website.

    नया पेज पुराने